October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

कड़ी सुरक्षा के साथ दुमका से गैंगस्टर अनिल शर्मा पैरोल पर आया रांची, पिता को दी मुखाग्नि।

रांची:- रंगदारी-हत्या सहित कई दर्जन गंभीर कांडों के दोषी आजीवन कारावास की सजा काट रहा गैंगस्टर अनिल शर्मा कड़ी सुरक्षा के बीच दुमका केंद्रीय कारा से रांची लाया गया। अनिल शर्मा को दो दिनों के पैरोल पर रांची लाया गया है। इसके लिए चुनाव आयोग की अनुमति भी ली गई थी। वह अपने पिता नंदेश शर्मा के अंतिम संस्कार में शामिल होने आया और पिता को मुखाग्नि दी। नंदेश शर्मा भाजपा के महानगर उपाध्यक्ष सुनील शर्मा के पिता थे। मुखाग्नि देने के बाद अनिल शर्मा ने अपने छोटे भाई सुनील शर्मा को विधि संस्कार स्थानांतरित कर दिया।

रांची लाए जाने के दौरान गैंगस्टर अनिल शर्मा की सुरक्षा में एक डीएसपी, एक इंस्पेक्टर, चार जमादार व करीब 20 जवान तैनात थे। पूर्व में जेल से ही निकलने के क्रम में पांडेय गिरोह के सरगना भोला पांडेय की हत्या के बाद से ही पुलिस सतर्क थी, इसलिए गैंगस्टर अनिल शर्मा की सुरक्षा कड़ी की गई थी। चुटिया के केतारी बगान स्थित स्वर्णरेखा नदी घाट पर नंदेश शर्मा के शव का अंतिम संस्कार हुआ।

मौके पर रांची से भाजपा प्रत्याशी संजय सेठ, हटिया के विधायक नवीन जायसवाल, ललित ओझा, सत्यनारायण सिंह, केके गुप्ता, बजरंग वर्मा सहित कई नेता मौजूद थे। इससे पूर्व कांग्रेस के लोकसभा प्रत्याशी पूर्व सांसद सुबोधकांत सहाय ने भी श्रद्धांजलि अर्पित की। गौरतलब है कि 13 अप्रैल को अनिल शर्मा के पिता नंदेश शर्मा की मौत हो गई थी।

इसके बाद चुनाव आयोग के आदेश पर दो दिनों के पैरोल पर अनिल शर्मा को रांची लाया गया है। अनिल शर्मा को 24 जुलाई 2017 को वरीय पुलिस अधिकारियों के निर्देश के बाद सुरक्षा कारणों से दुमका के केंद्रीय कारा में शिफ्ट किया गया था। तब अनिल शर्मा हजारीबाग के जयप्रकाश केंद्रीय कारा में बंद था। वह पिछले 20 वर्षों से जेल में बंद है और आजीवन कारावास की सजा काट रहा है।

Recent Posts

%d bloggers like this: