October 29, 2020

अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

केन्द्रीय कारा पूर्णिया में व्यवहार न्यायालय के आदेशानुसार जेल प्रशासन ने जेल में करवाई प्रेमी जोड़े की निकाह।

डगरूआ थाना क्षेत्र की शकरैल की अरशदी परवीन और उसी गांव के मो ,तामस के बीच प्यार हो गया ।प्यार इस कदर बढ़ा की दोनो ने सारी हद पार कर छुप छुप कर खेतों में मिलने लगे अचानक युवती को पता चला कि वह गर्भवती है। युवती ने लड़के पर शादी का दबाब डाला जिसपर लड़का मुकर गया। वही युवती ने लड़के के ऊपर थाने में मामला दर्ज कराया और पुलिस ने लड़के को पकड़कर जेल भेज दिया। इसी बीच लड़की ने एक पुत्र को जन्म दिया।

दोनो पक्षो में सुलह होने के बाद दोनों पक्ष ने कोर्ट में निकाह की अर्जी दी। जिसके बाद कोर्ट के निर्देश पर सेंट्रल जेल पूर्णिया में दोनों का निकाह कराया गया।

काजी आलिम वाहिदुजम्मा ने वहीं पहुंचकर निकाह पढ़ाया। फिर दोनों का मुंह मीठा कराने के साथ-साथ जेल प्रशासन की ओर से बंदियों में भी मिठाइयां बांटी गईं। उसके बाद अरशदी प्रवीण को विदाई दी गई,जबकि मो.तामस को उसके वार्ड में भेज दिया गया। जानकारी के अनुसार जल्द ही तामस की रिहाई भी होनेवाली है।
अरशदी एवं मो. तामस के माता-पिता समेत सेंट्रल जेल के अधिकारी-कर्मी व बंदी निकाह के गवाह बने। कोर्ट के निर्देश पर जेल सुपरिटेंडेंट के ऑफिस कैंपस में निकाह के बाद सैदा व निजाम ने हस्ताक्षर करते हुए लिखा- “हम दोनों का निकाह मुस्लिम रीति-रिवाज से काजी ने दो गवाहों के संरक्षण में बिना किसी के दबाव के कराया।

Recent Posts

%d bloggers like this: