अनावरण न्यूज़

एक नयी सुबह का

पुलिस मुठभेड़़ में ढेर 15लाख के इनामी नक्सली बुद्धेश्वर उरांव के खिलाफ दर्ज है 109 कांड

सिमडेगा, लोहरदगा, लातेहार और गढ़वा दर्ज में हत्या, लूट, डकैती और नक्सली घटनाओं से जुड़े मामले

रांची:- झारखंड पुलिस और सीआरपीएफ जवानों के साझा अभियान में गुमला जिले में गुरुवार को 15 लाख का इनामी नक्सली बुद्धेश्वर उरांव मारा गया। बुद्धेश्वर उरांव के खिलाफ गुमला में 81, सिमडेगा में 16, लोहरदगा में 4, लातेहार में 6 और गढ़वा जिले में दो यानी कुल 109 मामले दर्ज है। पुलिस उसे हत्या, हत्या का प्रयास, डकैती, लूट, रंगदारी, आगजनी और पुलिस पार्टी पर हमला तथा अन्य नक्सल घटनाओं से संबंधित मामले में लंबे समय से तलाश कर रही थी।

आईईडी विस्फोट में 5 ग्रामीण मारे गये, 11 घायल

इनामी नक्सली बुद्धेश्वर उरांव क्षेत्र में दहशत का पर्याय था और ग्रामीण इलाके में लोग के आतंक से काफी दिनों से भयाक्रांत थे। पुलिस द्वारा बुद्धेश्वर के दस्ते को खत्म करने के लिए लगातार अभियान चलाया जा रहा था और आईईडी को निष्क्रिय किया ज रहा था। उसके दसते द्वारा सुरक्षा बलों और ग्रामीणों को क्षति पहुंचाने के उद्देश्य से जंगली और पहाड़ी क्षेत्रों में आईईडी लगाये गये हैं, जिसकी चपेट में आने से अब तक 5 ग्रामीण मारे गये और 14 गंभीर रूप से घायल हुए है।

ए.के.47, कारतूस व मोबाइल समेत कई सामान बरामद

बुद्धेश्वर उरांव के दस्ते ने गुरुवार को भी सर्च अभियान में निकले सुरक्षा बलों को निशाना बना कर तबाड़तोड़ फायरिंग की गयी, लेकिन पहले से सर्तक सुरक्षा बलों ने मोर्चा संभालते हुए मुंहतोड़ जवाब दिया। इस मुठभेड़ में एक वर्दीधारी नक्सली मारा गया, उसके पास से एक एके-47 रायफल, 2 मैगजीन, काफी संख्या में कारतूस, आईईडी डेटोनेटर, मैगजीन, मोबाइल फोन, नक्सली साहित्य, पिट्ठू , दवाई, वर्दी और दैनिक उपभोग की अन्य वस्तुएं बरामद हुई। पुलिस मुख्यालय की ओर से यह जानकारी दी गयी है कि अभी तक विभिन्न स्त्रोतों से प्राप्त जानकारी के अनुसार मृत वर्दीधारी नक्सली की पहचान नक्सली संगठन भाकपा-माओवादी के रिजनल कमेटी मेम्बर सह सेक्रेटरी कोयल-शंख जोन बुद्धेश्वर उरांव के रूप में की गयी है। उसकी पुख्ता पहचान के लिए पुलिस अभी आगे की कार्रवाई की जा रही है। बुद्धेश्वर मूल रूप से गुमला जिले के सदर थाना क्षेत्र के पाकरटोली खंटगा गांव का रहने वाला है।

%d bloggers like this: